याद


मैंने तेज बारिश में
एक बड़ी छतरी ओढ़ ली
हाँ ये ही नीली छतरी
पर वो तेज बारिश,
मुसलाधार बारिश
मुझे भीगा ही गयी ।
© दीप्ति शर्मा

Comments

Popular posts from this blog

डायरी के पन्नें

मैं

बताऊँ मैं कैसे तुझे ?