Skip to main content

आपका आशीर्वाद चाहती हूँ



आज मेरा जन्मदिन है
आपका आशीर्वाद चाहती हूँ |
रंग बिरंगी दुनिया में
अपनी कोई पहचान चाहती हूँ 
आपका आशीर्वाद चाहती हूँ |
हर राह मे नयी राह बना 
संकल्प ले आगे बढना चाहती हूँ 
मैं अपनी हर राह में
आपका आशीर्वाद चाहती हूँ |
सव्छंद गगन में अरमानो को 
पंख दे उड़ना चाहती हूँ 
हर राग मे कोई गीत गा 
उस पेड़ की तरह हरदम 
ऊँचाई को छूना चाहती हूँ 
आपका आशीर्वाद चाहती हूँ |

- दीप्ति शर्मा 

Comments

Anonymous said…
happy b'day dear
हार्दिक शुभकामनायें दीप्ति..... आशीष
This comment has been removed by the author.
जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनाएँ| धन्यवाद|
जन्मदिन की हार्दिक शुभ कामनाएं.
आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें।
शुभकामनाएं।
तुम जियो हजारों साल, साल के दिन हो......
OM KASHYAP said…
JANAMDIN KI HARDIK SUBKANAYE
AAP SABHI KO MAHASHIVRATRI KI SUBHKAMNAYE..
Deepak Saini said…
Happy Birthday to u
Happy Birthday to u
Happy Birthday to u
Happy Birthday to u
Deepak Saini said…
जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनाएँ
Deepak Saini said…
जन्मदिन की दिली मुकारकबाद
badhaai ho badhaai janamdin kee tumko ...dheron aashirwaad
Kunwar Kusumesh said…
दो मार्च को हर साल यही सिलसिला रहे.
फूलों की तरह आपका चेहरा खिला रहे .

जन्म दिन की हार्दिक बधाई.
*********************
Happy Birth Day
*********************

हैप्पी बड्डे दीप्ति जी
जन्मदिन बहुत बहुत मुबारक हो
जन्म दिन पर ढेरों शुभकामनाएं, बधाई!
जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनाएँ दीप्ति
Mithilesh dubey said…
हार्दिक शुभकामनायें दीप्ति जी
सदा said…
जन्‍मदिन की बहुत-बहुत बधाई ...।
जन्म दिन पर ढेरों शुभकामनाएं, और बहुत-बहुत बधाई ।
Jivan ki muskan bano tum...
Fool khila do Kyari kyari,
Nayi safalta ke sumano se..
Mahake Jivan ki Fulwari...
A late but true wishes for ur birthday..

*********************
Happy Birth Day
*********************
बहुत बहुत मुबारक है ये समां
बहुत ही नायाब लग रहा आज जहाँ
आपसे दूर हूँ स्वीकार कीजिए ये संदेश
आप के जन्मदिन से सजा है आज सारा जहाँ..

*********************
* Happy Birth Day *
*********************
**********************
आप जियो हजारों साल,
साल के दिन हों पचास हजार
**********************
दीप्ती जी आपको जन्मदिन की हार्दिक बधाई एवं अशेष शुभकामनायें |
aap sabhi ko bahut bahut aabhar
....
माफ़ी थोड़ी देर से आया......तुम जियो हजारो साल.......खुदा हर बला से महफूज़ रखे.....आमीन...
Poorviya said…
badhai ho ...
der se hi sahi....

jai baba banaras...
APNA GHAR said…
deeoti jii ek achchi rachna ke liye badhai aapko .
jeevan singh said…
happy belated birthday deepti..........
H P SHARMA said…
janmdin kee anany shubhkamnaaye

Popular posts from this blog

जन्मदिन

आज मेरी प्यारी बहिन का जन्मदिन है और मैं बहुत खुश हूँ ,, मेरी तरह से उसे ढेरो शुभकामनाये ,,, कृपया आप भी अपना बहुमूल्य आशीर्वाद उसे प्रदान करें |

आज जन्मदिवस पर तेरे ,
ओ मेरी प्यारी बहिन
दुलार करते हैं सभी
प्यार करते हैं सभी

हजार ख्वाहिशें जुडी हैं
माँ पापा की तुझसे
रौशन है ये आँगन तुझसे
कह दे तू ये आज मुझसे
न दूर हो हम कभी भी
अब एक दूजे से

जफ़र पा ओ मेरी बहिन
घर जल्दी आना तू अबकी
आँखों का तारा हैं तू सबकी

तेरा सपना सच हो जाये
हर ख्वाहिश पूरी हो जाये
जन्मदिन पर मिले तुझे
सबका इतना आशीष
की हर बाला आने से
पहले ही टल जाये

जन्मदिन बहुत बहुत मुबारक हो प्रीती .

- दीप्ति शर्मा

शोषित कोख

उस बारिश का रंग दिखा नहीं
पर धरती भींग गयी
बहुत रोई !
डूब गयी फसलें
नयी कली ,
टहनी टूट लटक गयीं
आकाश में बादल नहीं
फिर भी बरसात हुई
रंग दिखा नहीं कोई
पर धरती
कुछ सफेद ,कुछ लाल हुई
लाल ज्यादा दिखायी दी
खून सी लाल
मेरा खून धरती से मिल गया है
और सफेद रंग
गर्भ में ठहर गया है,
शोषण के गर्भ में
उभार आते
मैं धँसती जा रही हूँ
भींगी जमीन में,
और याद आ रही है
माँ की बातें
हर रिश्ता विश्वास का नहीं
जड़ काट देता है
अब सूख गयी है जड़
लाल हुयी धरती के साथ
लाल हुयी हूँ मैं भी।
-- दीप्ति शर्मा
अभी कुछ देरपहले
मुझे आवाज़ आयी
माँ , मैं यहाँ खुश हूँ
सब  बैखोफ घूमते हैं
कोई रोटी के लिये नहीं लड़ता
धर्म के लिये नहीं लड़ता
देश के लिये,
उसकी सीमाओं के लिये नहीं लड़ता
देखो माँ
हम हाथ पकड़े यहाँ
साथ में खड़े हैं
सबको देख रहे हैं
माँ, बाबा से भी कहना
कि रोये नहीं
हम आयेगें फिर आयेगें
पर पहले हम जीना सीख लें
फिर सीखायेगें उनको भी
जिन्हें जीना नहीं आता
मारना आता है
माँ, आँसू पोंछकर देखो मुझे
मैं दिख रहा हूँ ना! 
हम सभी आयेगें पर तभी
जब वो दुनिया अपनी सी होगी
नहीं तो हम बच्चे
उस धरती पर कभी जन्म नहीं लेगें
तब दुनिया नष्ट हो जायेगी
है ना! 
पर उससे पहले
माँ, बाबा आप
यहाँ आ जाना हमारे पास
हम यहीं रहेगें
फिर कोई हमें अलग नहीं करेगा
तब तक के लिये तुम मत रोना
हम सब देख रहे हैं
और मैं रोते हुए चुप हूँ
बस एक टक देख रही हूँ
तुझे बेटा
तेरे होने के अहसास के साथ
©दीप्ति शर्मा