मन से निकली,
मन तक पहुँची,
वो अनकही बात,
पर कैसे?
आँखों से पगली,
अब समझी ना !

Comments

Popular posts from this blog

बस यूँ ही

डायरी के पन्नें

बताऊँ मैं कैसे तुझे ?